नवाब मलिक बोले- लोग मुझे फंसाने की कोशिश कर रहे हैं जैसे उन्होंने अनिल देशमुख को फंसाया

मुंबई: महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता नवाब मलिक ने शनिवार को दावा किया कि कुछ अज्ञात लोगों ने मुंबई स्थित उनके आवास की रेकी करने का प्रयास किया और उनके तथा उनके परिजनों के बारे में जानकारी एकत्र करने की भी कोशिश की। नवाब मलिक ने आरोप लगाया कि कुछ केंद्रीय एजेंसियां उन्हें गलत मामलों में फंसाने का प्रयास कर रही हैं।
यहां एक प्रेस कांफ्रेंस कर मलिक ने कहा कि वह इस संबंध में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और मुंबई पुलिस आयुक्त हेमंत नगराले से औपचारिक रूप से शिकायत दर्ज कराएंगे।
मंत्री ने कहा, मेरे पास इसका सबूत है कि मेरे घर और परिवार पर नज़र रखी जा रही है। जब मैं पिछले सप्ताह दुबई में था तब कैमरा लिए दो व्यक्तियों ने मेरे आवास की रेकी करने की कोशिश की। वे मेरे घर, स्कूलों, कार्यालय, नाती-पोते के बारे में जानकारी एकत्र करने का प्रयास कर रहे थे। कुछ लोगों ने जब उन्हें रोका और पूछताछ की तो वे भाग गए।
मलिक ने यह भी दावा किया कि उक्त दो व्यक्तियों में से एक ‘कू’ ऐप पर उनके खिलाफ लिखता है। और जहां मैं जाता हूँ वह शख्स वहां पहुंच जाता है। राकांपा नेता मलिक ने दावा किया कि केंद्रीय जांच एजेंसियों के कुछ अधिकारी उनके विरुद्ध शिकायत का व्हाट्सऐप मसौदा बना रहे हैं जिसे ईमेल के जरिये भेजा जाएगा।
मंत्री ने कहा, मेरे पास इसके व्हाट्सऐप चैट के सबूत हैं। अगर केंद्रीय एजेंसियां मंत्रियों के विरुद्ध गलत मामले दर्ज कराने की योजना बना रही हैं तो यह मामला गंभीर है और इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
नवाब मलिक ने कहा, लोग मुझे ऐसे फंसा रहे हैं जैसे उन्होंने अनिल देशमुख को फंसाया। ऐसा नहीं है कि हम डरते हैं, लेकिन उनका इरादा क्या हो सकता है?

बता दें कि इससे पहले नवाब मलिक ने ट्विटर पर कुछ लोगों की तस्वीरें साझा की थीं, उन्होंने बताया था कि, कुछ लोग कथित तौर पर उनके घर की ‘रेकी’ कर रहे थे। उन्होंने शुक्रवार को ट्वीट किया था कि इस कार में सवार लोग पिछले कुछ दिनों से मेरे घर और स्कूल में ‘रेकी’ कर रहे हैं। अगर कोई उन्हें पहचानता है तो मुझे बताएं। तस्वीर में दिखाई दे रहे लोगों से मैं कहना चाहता हूं कि अगर उन्हें मुझसे कोई जानकारी चाहिए तो, मैं उन्हें दूंगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *