महाराष्ट्र के नागपुर में भी मिली सोने की खान; जियोलॉकल सर्वे ऑफ इंडिया ने की पुष्टि

नागपुर: महाराष्ट्र की उप-राजधानी नागपुर में सोने की खान मिली है। जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (GSI) ने इसकी पुष्टि की है। जीएसआई के मुताबिक, जिले की पश्चिमी ब्लॉक यह स्वर्ण भंडार है। इसका दायरा परसोडी, किटाली, मरुपारा और भंडारा जिले के भीमसेन किला पहाड़ तक फैला है। इससे पहले राज्य के चंद्रपुर और सिंधुदुर्ग जिलों में दो-दो जगह भूगर्भ में स्वर्ण भंडार का खुलासा किया गया था।
विस्तृत सर्वेक्षण के आधार पर जीएसआई का कहना है कि परसोडी के भीवापुर इलाके में सोने का बड़ा भंडार हो सकता है। जीएसआई का यह भी कहना है कि उसकी रिपोर्ट को पहले राज्य सरकार ने गंभीरता से नहीं लिया। उक्त क्षेत्रों में खुदाई कराने के लिए कहा गया था, मगर उस पर अमल नहीं हुआ।

क्या है पूरा मामला?
चंद्रपुर के मिंझरी व बामणी में सोने की दो खाने मिली हैं। सिंधुदुर्ग में दो ब्लॉक चिन्हित किए गए हैं। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने खनन क्षेत्र के निवेशकों के साथ बैठक में इसका खुलासा किया था। सीएम शिंदे ने उम्मीद जताई थी कि सोने का खनन शुरू होने पर महाराष्ट्र का राजस्व बढ़ेगा। इससे राज्य की विकास परियोजनाएं वित्तीय तंगी की वजह से नहीं रुकेंगी।

आज बाबासाहेब की पुण्यतिथि पर दादर के चैत्यभूमि में डॉ बाबासाहेब अंबेडकर की 66वीं पुण्यतिथि पर महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी, मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे, उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने महामानव का अभिवादन किया।