पीएमसी बैंक स्कैम: वाधवन का प्राइवेट जेट जब्त, लग्जरी कारों से विदेशी बॉडीगार्ड्स तक, जानें- बाप-बेटे का रईसी सफर…

नयी दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शनिवार को हाउसिंग डिवेलपमेंट ऐंड इन्फ्रास्ट्रक्चर लि. (एचडीआईएल) के वाइस-चेयरमैन और एमडी सारंग ऊर्फ सनी वाधवन का निजी विमान अटैच कर लिया। ईडी ने पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक (पीएमसी बैंक) मनी लॉन्ड्रिंग केस में वाधवन की 15 करोड़ रुपये की हीरे की अंगूठी समेत कुल 60 करोड़ रुपये मूल्य की जूलरी भी अटैच कर ली। ईडी अधिकारियों को पता चला है कि सनी के पास एक यॉट भी है जो मालदीव के समुद्र तट पर पड़ा है। इस यॉट को जब्त करने की प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी है। एक तरफ पीएमसी बैंक के 17 लाख ग्राहकों का भविष्य अधर में है तो दूसरी तरफ वाधवन परिवार का अतीत जिसे जानकर आप दंग रह जाएंगे।

इस बार नहीं मनी बर्थडे पार्टी
सारंग वाधवन का शनिवार को ही 42वां जन्मदिन था। हालांकि, इस बार शानो-शौकत वाली पार्टी नहीं हुई जैसा कि हर जन्मदिन पर हुआ करती थी और जिनमें बॉलिवुड स्टार की मौजूदगी का ग्लैमर हुआ करता था। बर्थडे पार्टी की धमा-चौकड़ी की जगह इस बार सारंग पुलिस वालों से घिरे रहे। एक दिन पहले शुक्रवार को रियल एस्टेट सेक्टर के दिग्गज कारोबारी और सनी के पिता राकेश वाधवन को भी पीएमसी में हुई वित्तीय अनियमितताओं को लेकर धोखेबाजी, आपराधिक षड्यंत्र और आपराधिक विश्वासघात के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। वाधवन के पास अपने विमान, साप्ताहिक पार्टियों के लिए आलीशान यॉट, महंगी कारों का एक पूरा बेड़ा, बंदूकधारी अंगरक्षकों की फौज, अलीबाग, लोनावाला, दुबई, अमेरिका, इंग्लैंड, कनाडा और न जाने कहां-कहां बंगले हैं।

1990 के मध्य दशक से शुरू होती है कहानी
इसकी कहानी 1990 के दशक के मध्य में शुरू होती है जब महाराष्ट्र सरकार ने स्लम रिहैबिलिटेशन एक्ट (एसआरए) पास किया था। उस वक्त एक छोटी नॉन-बैंकिंग हाउसिंग फाइनैंस कंपनी (एनबीएफसी) दीवान हाउसिंग फाइनैंस लि. के मालिक पिता-पुत्र राकेश और सनी वाधवन ने इस कानून का भरपूर फायदा उठाया। उन्होंने वसाई-विरार की ताकतवर शख्सियत जयेंद्र ‘भाई’ ठाकुर जैसे लोगों के साथ मिलकर एसआरए प्रॉजेक्ट्स लॉन्च किए।

2009 में अरबपति बन गया राकेश वाधवन
राकेश ने 1996 में एचडीआईएल की स्थापना की और 2009 आते-आते वह 1.6 अरब डॉलर की अनुमानित संपत्ति के साथ अरबपतियों की लिस्ट में शुमार हो गया। तब उनकी उम्र 57 साल थी। उसी दरम्यान कंपनी की रीस्ट्रक्चरिंग की गई जिसमें राकेश और सनी ने एचडीआई का जिम्मा अपने पास रखा जबकि राकेश के भाई राजेश और उनके बेटों ने- कपिल और धीरज ‘बाबा’ दीवान ने डीएचएफएल की जिम्मेदारी संभाली। वाधवन परिवार सार्वजनिक तौर पर अपना उपनाम वाधवन न लिखकर ‘दीवान’ बताता है।

बर्थडे पार्टी में उमड़ पड़ी थी ‘कुलीन मुंबई’
बताया जाता है कि 2007 में बेटी सारा की पहली बर्थडे पार्टी के दौरान सनी और उनकी पत्नी अनु ने एक चीनी सर्कस का आयोजन किया जिसमें दिखाए गए करतबों का आनंद बॉलिवुड की कई हस्तियों ने भी उठाया था। शाहरुख खान बेटे आर्यन के साथ, मलाइका अरोड़ा, अरबाज खान और अरहान के साथ, सीमा और सोहैल खान निरवान के साथ, सुसैन खान अपने बेटे हृीहान रोशन के साथ शामिल हुए थे। उनके अलावा, संजय और महीप कपूर, मौरीन और सेलिना वाडिया समेत मुंबई के कुलीन समुदाय के कई नामी-गिरामी लोगों ने सर्कस का आनंद लिया था।
बर्थडे में सिर्फ केक ही नहीं कटे थे, बल्कि बड़ों की पार्टी के लिए एक ‘क्लब एरिया’ ही बना दिया गया था। यह दीवान की ओर से चकाचौंध भरा न तो पहला आयोजन था और न ही आखिरी। दीवान की पार्टियों में मौज-मस्ती करते सिलेब्रिटीज की तस्वीरों से इंटरनेट भरा पड़ा है। सनी और अनु ने 2018 में ही एक शानदार क्रिसमस पार्टी दी थी जबकि एचडीआईएल पिछले कई वर्षों से लगातार खस्ताहाल होती जा रही थी।

2013 से गर्दिश में डूबने लगे सितारे
एक सूत्र ने बताया कि उनके सितारे 2013 के आसपास गर्दिश में डूबने शुरू हुए जब मुंबई इंटरनैशनल एयरपोर्ट (एमआईएएल) लि. ने एचडीआईएल को एयरपोर्ट के ईर्द-गिर्द के स्लमों के पुनर्विकास का ठेका वापस ले लिया। उसके बाद 2014 में केंद्र सरकार बदल गई। फिर आर्थिक सुस्ती का माहौल आया और नकदी संकट सामने आया। इन सबकी पृष्ठभूमि में पहले से खस्ताहाल एचडीआईएल बिल्कुल धड़ाम से गिर गई।

इजरायल, द. अफ्रीका, रूस के बॉडीगार्ड्स
सूत्र बताते हैं कि वाधवन परिवार को चमक-दमक की जैसे लत लग गई। बाबा दीवान को बांद्रा के पास लग्जरी कार हमर में हर किसी ने देखा होगा। वह गुजरता था तो उसके पीछे कारों का एक रेला पीछे होता है जिनमें उसके इजरायली बॉडीगार्ड्स होते हैं। राकेश और सनी के बॉडिगार्ड दक्षिण अफ्रीका और रूस के हैं। सनी के बच्चे भी सुरक्षा दस्ते के बिना कहीं नहीं निकलते। उन्होंने जब एक सहपाठी (क्लासमेट) की पार्टी में शामिल हुए तब पहले उनके गार्ड ने मौके का मुआयना किया।

लग्जरी कारों का विशाल रेला
एक रिपोर्ट के मुताबिक, 2008 में सनी की कारों के रैले में एक लैंड रोवर, एक बैंटली, दो रॉल्स-रॉयस- द फैंटम ऐंड द डी8 कूप – एक लैंबर्गिनी, एक पोर्शे और एक फरारी एफ430 मॉडेना थी। इतना ही नहीं, वाधवन के खार सथित यूनियन पार्क वाले बंगले की अंडरग्राउंड कार पार्किंग में पता नहीं और कौन-कौन सी कारें थीं। मजे की बात यह है कि वाधवन के बंगले की डिजाइनिंग अभिनेत्री और लेखक ट्विंकल खन्ना ने की है जिन्हें अनु दीवान की सबसे नजदीकी मित्र माना जाता है।

एयरक्राफ्ट और आलिशान यॉट
वाधवन के पास दो प्राइवेट एयरक्राफ्ट भी हैं, एक दसॉ फाल्कन 2000 और दूसरा बॉम्बार्डियर चैलेंजर 300 जो 2006 में स्थापित प्रिविलेज एयरवेज कंपनी के नाम पर रजिस्टर्ड हैं। 300 करोड़ की अनुमानित कीमत वाले दोनों बिजनस एयरक्राफ्ट का इंटीरियर बेहद भव्य है जिसके अंदर 8 से 10 लोग आ सकते हैं। वाधवान ने एयरक्राफ्ट की सेवा देकर कई नेताओं और सिलेब्रिटीज से अपने काम निकलवाए। एक सूत्र के मुताबिक, सनी के पास एक फेरेटी और 88 फुट का एक यॉट भी है जिसकी कीमत 25 करोड़ रुपये के आसपास है।

17 लाख लोगों के भविष्य पर प्रश्नचिन्ह?
गौरतलब है कि पीएमसी ने खस्ताहाल एचडीआईएल और उससे संबंधित संस्थानों को 6,266 करोड़ रुपये का लोन दिया। यह रकम बैंक की कुल संपत्ति का करीब-करीब 73% है। अब जब लोन की यह रकम वापस नहीं आई तो बैंक में अपनी गाढ़ी कमाई से बचाई गई कुछ-कुछ रकम जमा करने वाले 17 लाख लोगों पर संकट आ पड़ा। फिलहाल आरबीआई के आदेश पर बैंक का कामकाज छह महीने के लिए रोक दिया गया है। कुछ रिपोर्टों के मुताबिक, पीएमसी बैंक का यह फर्जीवाड़ा 2008 का है।

PMC बैंक घोटाला: पूर्व प्रबंध निदेशक थॉमस 17 अक्टूबर तक पुलिस हिरासत में…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *