कानपुर शूटआउट: विकास दुबे गिरफ्तार, पुलिस एनकाउंटर में 5 साथी ढेर, जाने- अब तक कौन-कौन मारा गया?

कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर में 3 जुलाई को मारे गए 8 पुलिसवालों का मुख्य हत्यारोपी विकास दुबे का साम्राज्य एक-एक कर ढहता जा रहा है। गुरुवार विकास दुबे के दो और करीबी साथी प्रभात मिश्रा व प्रवीण उर्फ बउवा दुबे गुरुवार सुबह पुलिस मुठभेड़ में मारे गए। वहीं, पुलिस ने विकास दुबे को मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार कर लिया है।
मिली जानकारी के मुताबिक, फरीदाबाद में गिरफ्तार हुए विकास दुबे के करीबी प्रभात मिश्रा को पुलिस ट्रांजिट रिमांड पर लेकर कानपुर आ रही थी तभी बीच रास्ते में प्रभात ने पुलिस की पिस्टल छीनकर भागने की कोशिश की। पुलिस ने भी गोली चलाई तो प्रभात घायल हो गया, अस्पताल में डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। वहीं, विकास का दूसरा साथी प्रवीण उर्फ बउवा इटावा में मारा गया। अबतक विकास दुबे के पांच करीबी साथी पुलिस मुठभेड़ में मारे जा चुके हैं जबकि दो अन्य साथी दयाशंकर कल्लू और श्यामू वाजपेयी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।
पुलिस मुठभेड़ में मारे गए साथियों के नाम हैं- प्रेम प्रकाश (विकास दुबे का मामा), अतुल दुबे (विकास दुबे का भतीजा), अमर दुबे (विकास दुबे का राइड हैंड), प्रभात और प्रवीण उर्फ बउवा।

विकास दुबे का मामा प्रेम प्रकाश पांडेय और अतुल दुबे कानपुर एनकाउंटर के कुछ देर बाद मारे गए
कानपुर एनकाउंटर के बाद घटनास्थल पर पहुंची पुलिस की बिकरू गांव जंगलों में विकास दुबे के गैंग से मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ में पुलिस ने विकास दुबे के मामा प्रेम प्रकाश पांडेय और साथ अतुल दुबे को मार गिराया था। इस मुठभेड़ में तीन पुलिसकर्मी भी घायल हुए थे। कानपुर के आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया था कि मुठभेड में ढेर हुए बदमाशों के पास से पुलिस से लूटी गई पिस्टल बरामद की गई, जिससे साफ होता है कि ये बदमाश कानपुर एनकाउंटर के दौरान उपस्थित थे।

हमीरपुर में मारा गया विकास दुबे का राइड हैंड अमर दुबे
बुधवार की तड़के सुबह यूपी के हमीरपुर में यूपी एसटीएफ व हमीरपुर पुलिस ने मुठभेड़ में विकाश दुबे का राइड हैंड कहे जाने वाला व सबसे खास आदमी अमर दुबे को मार गिराया गया। इस मुठभेड़ में मौदहा इंस्पेक्टर मनोजशुक्ल व एसटीएफ सिपाही घायल हुए है जिन्हें सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अमर विकास के शूटरों में सबसे भरोसेमंद माना जाता था। हमेशा राइफल लेकर विकास के साथ रहता था। बता दें कि अमर दुबे की नौ दिन पहले ही शादी हुई थी।

इटावा में मारा गया प्रवीण उर्फ बउवा
विकास दुबे का एक और करीबी प्रवीण उर्फ बउवा भी इटावा में पुलिस मुठभेड़ के दौरान मारा गया।
पुलिस अफसरों के मुताबिक बिकरू गांव निवासी प्रवीण उर्फ बउवा ने देर रात महेवा के पास हाईवे पर स्विफ्ट डिजायर कार को लूटा था। उसके साथ तीन और बदमाश थे। पुलिस को लूट की जैसे ही खबर मिली चारों को सिविल लाइन थाने के काचुरा रोड पर घेर लिया। पुलिस और बउवा के बीच फायरिंग शुरू हो गई। इस फायरिंग के दौरान बउवा को ढेर कर दिया गया। हालांकि उसके तीन साथी भागने में कामयाब रहे।

महाकाल के दरबार से पकड़ा गया गैंगस्टर
यूपी पुलिस प्रदेश के सबसे ईनामी अपराधी को पकड़ने में नाकाम साबित हुई। यूपी पुलिस की अलग अलग टीमें सात दिन में सात प्रदेशों में विकास को खोजने में लगी थी इसके बाद भी वह शिकंजे में नहीं आया। गुरुवार सुबह विकास दुबे को उज्जैन के महाकाल मंदिर से पकड़ा गया। वह गिरफ्तार हुआ या उसने सरेंडर किया है यह अभी सस्पेंस में है। हालांकि मध्य प्रदेश पुलिस का दावा है कि उसे गिरफ्तार किया गया है।
विकास दुबे कैसे गिरफ्तार हुआ, इस बात को लेकर अभी भी सस्पेंस बना हुआ है। कभी कहा जा रहा है कि पुजारी ने उसे पहचाना तो कभी बताया जा रहा है कि सुरक्षाकर्मी ने उसकी पहचान की। मंदिर से जुड़े लोग भी इस विषय पर ज्यादा कुछ नहीं बोल रहे हैं।

पुलिस की थ्योरी में फूल बेचने वाला आया सामने
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक उज्जैन के डीएम आशीष सिंह का कहना है कि आज सुबह 7:30 और 8:00 बजे के बीच एक संदिग्ध शख्स को महाकाल मंदिर परिसर में देखा गया। उसने मंदिर के दर्शन को लेकर एक दुकानदार सुरेश से जानकारी ली और पूजा की सामग्री खरीदा। सामान खरीदते समय जैसे ही विकास ने माॅस्क उतारा दुकानदार को कुछ शक हुआ। इसके बाद दुकानदार ने प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड को बताया। गार्ड एक पुलिस जवान के साथ महाकाल मंदिर कैंपस में पहुंचा। कैंपस के अंदर विकास दुबे को पकड़ा गया, विकास दुबे से पूछताछ की तो वह जवाब नहीं दे पाया। इसके बाद विकास दुबे को महाकाल स्थित चौकी पर लाया गया। पुलिस का शिकंजा कसता देख विकास दुबे ने खुद का परिचय दिया। ‘मैं ही कानपुर वाला विकास दुबे हूँ!’

महाकाल मंदिर से विकास दुबे का बैग बरामद
गैंगस्टर विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने महाकाल मंदिर में जांच की। विकास मंदिर में जहां-जहां गया वहां बम स्क्वॉड भेजा गया। दर्शन करने से पहले दुबे ने अपना बैग फैसिलिटी सेंटर स्थित लॉकर रूम में रखा था। पुलिस ने इसे अपने कब्जे में ले लिया है।
मध्य प्रदेश पुलिस आज विकास दुबे को उज्जैन कोर्ट में पेश कर रही है। कोर्ट में पेशी के बाद गैंगस्टर विकास दुबे को यूपी पुलिस रिमांड पर लेगी।

पुलिस ने विकास दुबे का बैग अपने कब्जे में ले लिया है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *